बचके रहना जी इन धुरंधर बल्लेबाजों से


धाकड़ खबर | 21 Aug 2019

बचके रहना जी इन धुरंधर बल्लेबाजों से

न्यूज डेस्क। वेस्टइंडीज टीम को इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान अजिंक्य रहाणे, टेस्ट स्पेशलिस्ट चेतेश्वर पुजारा और वनडे उपकप्तान रोहित शर्मा से खास तौर पर सावधान रहना होगा। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच गुरुवार को एंटिगुआ के सर विवियन रिचड्र्स स्टेडियम में खेला जाएगा। भारत की उम्मीदें काफी हद तक उसके बल्लेबाजों पर निर्भर करेगी इसलिए कैरेबियाई गेंदबाजों को मेहमान टीम के शीर्ष बल्लेबाजी को जल्दी समेटने पर ध्यान देना होगा। इन बल्लेबाजों को एक भी मौका देना मेजबान टीम के लिए भारी साबित हो सकता है। दरअसल, यह सीरीज वल्र्ड टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा होगी और इस मैच में भारत का पलड़ा भारी रहने की उम्मीद है।
वे इसी लय को टेस्ट सीरीज में बनाए रखते हुए इस फॉर्मेट में अपना रिकॉर्ड बेहतर करना चाहेंगे। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 टेस्ट मैचों में 45.73 की औसत से 686 रन बनाए, जिसमें 2 शतक और 3 अर्द्धशतक शामिल है। वेस्टइंडीज में वे 7 टेस्ट मैचों में 36.33 की औसत से 327 रन बना चुके हैं। 30 वर्षीय विराट कोहली का भले ही वेस्टइंडीज के खिलाफ रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है लेकिन पिछले दिनों वे वनडे सीरीज में शानदार फॉर्म में थे और उन्होंने दो शतक जड़े थे। उपकप्तान रहाणे का वेस्टइंडीज के खिलाफ रिकॉर्ड शानदार रहा। उन्होंने विंडीज टीम के खिलाफ 6 टेस्ट मैचों में 91 की औसत से 364 रन बनाए, इसमें 1 शतक और 2 अर्द्धशतक शामिल है। वेस्टइंडीज में वे ज्यादा टेस्ट मैच तो नहीं खेले लेकिन उनका प्रदर्शन बेहतर रहा। उन्होंने कैरेबियाई पिचों पर 4 टेस्ट मैचों में 121.50 की औसत से 243 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 1 अद्र्धशतक जड़ा। पुजारा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 7 टेस्ट मैचों में 48 की औसत से 288 रन बनाए है। वे इस दौरान एक शतक और एक अद्र्धशतक लगा चुके हैं। 31 वर्षीय पुजारा पिछले कुछ वर्षों में भारतीय टेस्ट बल्लेबाजी पंक्ति की जान है। वे एक बार क्रीज पर खड़े हो गए तो उन्हें आउट करना मुश्किल हो जाता है और बड़ी पारी खेलने में उन्हें महारत हासिल है। वैसे वेस्टइंडीज के खिलाफ उनका रिकॉर्ड इतना प्रभावी नहीं रहा है लेकिन इस बार उनके पास इसे सुधारने का मौका है। ऐसा इसलिए कहा जा सकता है क्योंकि वर्तमान कैरेबियाई गेंदबाजी आक्रमण इतना अनुभवी और प्रभावी नहीं है।

रोहित ने वैसे तो ज्यादा टेस्ट मैच नहीं खेले लेकिन उन्हें जब भी टेस्ट क्रिकेट के प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया तो उन्होंने उसे भुनाने का पूरी कोशिश की। 32 वर्षीय रोहित 27 टेस्ट मैचों में 39.62 की औसत से 1585 रन बना चुके हैं। उन्होंने 3 शतक और 10 अर्द्धशतक लगाए हैं। वैसे वेस्टइंडीज के खिलाफ उनका प्रदर्शन धमाकेदार रहा है, वे विंडीज टीम के खिलाफ 4 टेस्ट मैचों में 112.66 की औसत से 338 रन बना चुके हैं। इस बार उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका मिल सकता है और यदि ऐसा हुआ तो वे सीमित ओवरों की सीरीज की असफलता को इस बड़े फॉर्मेट में दूर करना चाहेंगे।



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry