ईद पर 'सलमेनिया', भारत की भावना में बॉक्स ऑफिस को भुना ले जाएंगे सलमान खान


धाकड़ खबर | 17 Jun 2019

सलमान खान ने अपने फैंस को भारत की र‍िलीज के साथ ईद का तोहफा दे द‍िया है. इस फिल्म में वो सब है जो एक मनोरंजन करने वाली मसाला फिल्म में होना चाह‍िए. या यूं कहें सलमान खान ने एंटरटेनमेंट का पूरा पैकेज बनाकर भारत का तोहफा तैयार किया है. ये फिल्म सलमान के फैंस के लिए तो ब्लाकबस्टर है, इसमें दो राय नहीं है. लेकिन अली अब्बास जफर के डायरेक्शन में बनी फिल्म असल में कैसी है,पढ़ें र‍िव्यू.

सलमान खान की भारत शुरू होती है आजादी के द‍िन 15 अगस्त 1947 से. इस दि‍न जन्म होता है भारत का (सलमान खान का जन्मद‍िन). अब जब बर्थडे है तो सेल‍िब्रेशन भी होगा, तो इस सेल‍िब्रेशन की शुरुआत होती है अटारी बॉर्डर पर पूरे पर‍िवार के साथ जाकर, चलती ट्रेन के पीछे भागते हुए केक काटने से. लेकिन केक काटने से पहले भारत सुनाता है घर के बच्चों को अपनी कहानी, बस यहीं से कहानी चल पड़ती है.

ये कहानी है भारत-पाकिस्तान के उस बंटवारे की ज‍िसमें भारत यानी सलमान ने अपने स्टेशन मास्टर प‍िता (जैकी श्रॉफ) और छोटी बहन को खो द‍िया. 10 साल का भारत दोनों की तलाश शुरू करता है और वो 70 साल का हो जाता है. इस बीच भारत की जर्नी, सर्कस से अरब और माल्टा से होते हुए ह‍िंदुस्तान तक आती है. इस बीच उसे मिलते हैं कई किरदार, जो कहानी में अहम मोड़ लाते हैं जैसे मैडम सर (कटरीना कैफ), व‍िलाइती (सुनील ग्रोवर), आस‍िफ शेख.  


कहानी में कितना दम

फिल्म सलमान खान की हो तो सिनेमा के तमाम कायदे सलमान की मौजूदगी के आगे उनके प्रशसंकों को कम नजर आते हैं. वैसे फिल्म की कहानी पर पैनी नजर डालें तो एक शख्स भारत के इर्द-ग‍िर्द ही सारे किरदार ल‍िखे गए हैं. हालांकि सलमान की पिछली फिल्म रेस 3 की तुलना में भारत की कहानी सुलझी हुई है. इस बार फिल्म में एक्शन जीरो है और इमोशनल ड्रामा भरपूर है. ड्रामा कहीं कहीं बहुत ज्यादा हो गया जो यथार्थ नजर नहीं आता. जैसे सलमान का अरब पहुंचना और फिर माल्टा में दिखना. एक ही आदमी के सर्कस से लेकर नेवी तक का सफर फिल्मी ज्यादा नजर आता है. खैर स्क्र‍िप्ट में एंटरटेनमेंट का फुल मसाला है. और कहानी को भी उसी के लिहाज से बुना गया है. अब सलमान हैं तो सब मुमकिन है. फिल्म में डायलॉग्स अच्छे हैं, कॉमेडी का तड़का भी जबरदस्त है.

हमारे बारे में

  • धाकड़ खबर के माध्यम से हम एक ऐसी यात्रा कर रहे हैं, जिसमें आप भी सहयात्री व सहभागी हैं. यह यात्रा वर्तमान दौर के संघर्ष जनित तनाव और अवसाद वाले माहौल में इससे निजात के उपाय तलाशने की है. तकनीक की सहजता से अपने सब्सक्राइर्ब्स से रोजाना का रिश्ता कायम होना संभव हो गया. यह हमारे आपके बीच के संग-साथ को बराबर बनाये रखेगा......
  • Read More

सम्पर्क करें

contact@dhaakadkhabar.com

इस नंबर पर WhatsApp कर सकते हैं +91 - 8766332382