करीब 68 लाख किसानों को नहीं मिल पाएगा पीएम किसान योजना का लाभ, ये है कारण


धाकड़ खबर | 17 Jun 2019

नई दिल्ली: 

केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि 67.82 लाख से ज्यादा किसान सीधा लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) योजना से वंचित रह जाएंगे क्योंकि पश्चिम बंगाल, सिक्किम और दिल्ली ने अपना ब्योरा पीएम-किसान पोर्टल पर अपलोड नहीं किया है. इन तीनों प्रदेशों के अलावा, मध्यप्रदेश, राजस्थान, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और लक्षद्वीप में निधि का हस्तांतरण पात्र किसानों को नहीं किया गया है क्योंकि अपलोड किए गए आंकड़ों की जांच व निधि जारी करने की मांग नहीं की गई है. सिंह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में अगरप्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) के तहत 1,342 करोड़ रुपये की पहली किस्त प्राप्त की गई होती तो प्रदेश के 67.11 लाख किसानों में से प्रत्येक को 2,000 रुपये मिले होते. 


कांग्रेस का निशाना: PM मोदी ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया, अब चुनाव से पहले उनकी याद आई

इसी प्रकार, सिक्किम में 55,090 और दिल्ली में 15,880 किसानों को योजना के तहत उनकी निधि क्रमश: 11 करोड़ रुपये और तीन करोड़ रुपये से उनका हिस्सा नहीं मिल पाया. नरेंद्र मोदी सरकार ने अंतरिम बजट में किसानों के लिए सालाना 6,000 रुपये की सीधी आय सहायता की घोषणा की. पीएम किसान सम्मान निधि योजना की यह रकम दो हेक्टेयर यानी पांच एकड़ से कम जोत की जमीन वाले 12.5 करोड़ छोटे व सीमांत तीन किस्तों में प्रदान की जाएगी.  


अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry