भारतीय घरेलू क्रिकेट के इतिहास पुरुष बने जाफर 


धाकड़ खबर | 10 Dec 2019


विजयवाड़ा। अनुभवी ओपनर वसीम जाफर ने मैच में उतरने के साथ ही ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की। जाफर का ये रणजी ट्रॉफी क्रिकेट में 150वां मैच है। इसी के साथ जाफर भारतीय क्रिकेट इतिहास में 150 रणजी ट्रॉफी मैच खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं। दरअसल, विजयवाड़ा में आंध्र प्रदेश और विदर्भ के बीच रणजी ट्रॉफी मैच में उतरने के साथ ही अनुभवी ओपनर वसीम जाफर ने ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की। हम आपको बता दें कि 42 वर्षीय जाफर के बाद सबसे ज्यादा रणजी मैच खेलने वाले खिलाड़यिों में मध्यप्रदेश के देवेंद्र बुंदेला और अमोल मजूमदार के नाम शामिल हैं। बुंदेला ने 145 जबकि मजूतदार ने 136 रणजी ट्रॉफी मैच खेले हैं। इनमें उनके 40 शतक शामिल हैं। मुंबई में जन्में जाफर ने कुल 253 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 51.19 की औसत से 19147 रन बनाए। यहां हम आपको ये बता दें कि जाफर ने रणजी ट्रॉफी के बीते सीजन में विदर्भ के लिए खेलते हुए 1037 रन बनाए थे। उनके शानदार खेल की बदौलत विदर्भ ने लगातार दूसरी बार रणजी खिताब जीता था। वहीं इस बार भी वो खिताब की प्रबल दावेदार है। यदि इस सीजन में जाफर 853 रन बना लेते हैं तो वे फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अपने 20 हजार रन पूरे कर लेंगे।प्रथम श्रेणी क्रिकेट में जाफर के नाम 57 शतक हैं। 314 उनका सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर रहा है। इसके अलावा जाफर ने भारत के लिए 31 टेस्ट और 2 वनडे मैच भी खेले हैं। गौरतलब है कि जाफर ने अपने इस मैराथन रणजी करियर में 11775 रन बनाए हैं। बहरहाल जाफर का ये 150वां रणजी मैच इसलिए भी यादगार बन गया क्योंकि मैच के दौरान ग्राउंड में सांप आ गया। विदर्भ के कप्तान फैज फजल ने टॉस जीतकर आंध्र को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया। इसी दौरान सांप आने के कारण कुछ देर के लिए मैच रोकना पड़ा। 
 



अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry