दिल्ली में सांस लेना मुश्किल, जहरीली हवा का कहर जारी


धाकड़ खबर | 15 Nov 2019

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में जहरीली हवा का कहर जारी, ऑड ईवन पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई। केंद्र और राज्य सरकारों को सुप्रीम कोर्ट में जवाब देना है कि प्रदूषण से निपटने के लिए क्या कदम उठाए. कोर्ट ने दिल्ली सरकार से पूछा है कि क्या वाकई इस योजना से प्रदूषण कम हुआ है. दरअसल, दिल्ली-एनसीआर में सांस लेना एक बार फिर से मुश्किल हो रहा है. प्रदूषण का स्तर लगातार खतरनाक बना हुआ है. दिल्ली के नरेला इलाके में ।फप् 800 के पार चला गया. प्रदूषण बढ़ने के कारण आज भी स्कूल बंद रहेंगे. द्वारका में एक्यूआई 496 और जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में 492 दर्ज किया गया।
प्रदूषण से निपटने के लिए केजरीवाल सरकार ने 4 नवंबर से ऑड ईवन योजना शुरू की थी जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है. सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में ऑड-इवेन योजना को मनमाना और रोजगार के मौलिक अधिकार को बाधित करने वाला बताया गया है.


कोर्ट ने दिल्ली सरकार से पूछा है कि क्या वाकई इस योजना से प्रदूषण कम हुआ है. इसके अलावा केंद्र और राज्य सरकारों को भी जवाब देना है कि प्रदूषण से निपटने के लिए क्या कदम उठाए. एक तरफ जनता के लिए सांस लेना मुश्किल हो रहा है, दूसरी तरफ इस गंभीर मुद्दे पर भी राजनीति गर्म है. कल एक बार फिर बीजेपी के नेता विजय गोयल ऑड ईवन के मुद्दे पर सड़क पर दिखे. बीजेपी के निशाने पर केजरीवाल हैं वहीं केजरीवाल दिल्ली में प्रदूषण के लिए पंजाब और हरियाणा की सरकार को जिम्मेदार मानते हैं क्योंकि वहां पराली जलाई जाती है. राजनीति के बीच दिल्ली में आज ऑड ईवन का आखिरी दिन है, केजरीवाल ने इसे आगे बढ़ाने के संकेत जरूर दिए थे लेकिन अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है. यह नियम 4 नवंबर से आज तक के लिए लागू किया गया था. इस बार सीएनजी गाड़ियों को भी ऑड-ईवन के दायरे में रखा गया है.


अन्य ख़बरें

Beautiful cake stands from Ellementry

Ellementry